Carbon Dioxide affect Crops Nutritional value, Millions of Life At Risk/ कार्बनडाई ऑक्साइड से अनाजों की घटती पोष्टिकता


क्या आप जानते कि आपके द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले अनाजों की पोष्टिकता खतरनाक स्तर पर कम हो रही है

कार्बन डाइऑक्साइड का  बढ़ता  स्तर खाद्य फसलों पर अप्रत्याशित दुष्प्रभाव डाल रहा है ऐसा देखा गया की इससे अनाजों में मुख्य पोषक तत्वों की कमी हो रही हैं  और यह लोगों को कुपोषण के खतरे में डाल रहे हैं
2014 के एक अध्ययन से पता चला है कि वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड के बढ़ते हुए स्तर  से चावल, गेहूं, मटर और अन्य खाद्य फसलों के प्रोटीन, लोहा और जस्ता जैसे तत्वों में कमी हो रही है  हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में पर्यावरण स्वास्थ्य शोधकर्ता शमूएल मायर्स ने एक अध्यन में यह सावित किया है
वातावरण में बढ़ता प्रदूषण चिंताजनक हैं फसलों में मुख्य पोषक तत्वों की कमी के होने कुछ अलग कारण भी है
१: वातावरण में बढ़ता प्रदूषण
२: फसलों के अधिक उत्पादन हेतु बेतहाशा केमिकल और पेस्टिसाइड्स का इस्तेमाल का होना
एक नागरिक के तौर पर हमें कोशिश करनी होगी कि वातावरण में प्रदूषण कम हो एवं देश के फसल उत्पादक जहरीले उर्वरको का इस्तेमाल बंद करें केवल देशी खादों का इस्तेमाल करें
लेकिन यह एक लम्बा और अनिश्चितकालीन प्रोसेस हैं हमें अपनी सेहत की देखभाल के लिए कुछ प्रभावी कदम उठाने होंगे , जिससे हमें और हमारे बच्चो को उचित मात्रा में पोषक तत्व मिल सकें , प्राकृतिक रूप से कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो अनाजों , फलों से अधिक मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करते हैं हम सलाह देतें की आप नीचे दिए प्रोडक्ट का इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं 
स्पिरुलिना Spirulina 
यह एक जलीय वनस्पति है जो समुद्र के अंदर पायी जाती है नासा के द्वारा इसे सुपर फ़ूड के रूप में प्रमाणित किया गया हैं इसका मलतब यह सुरक्षित और सेहत मंद हैं स्पिरुलिना की सबसे बड़ी खासियत ये है की इसमें 60%  प्रतिशत प्रोटीन तथा उसके 18  एमिनो एसिड्स होते हैं लगभग सभी विटामिन और खनिज होते हैं शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सबसे जरुरी है प्रोटीन , विटामिन एवं जरूरी खनिज, जोकि स्पिरुलिना में किसी भी शाकाहारी और मांसाहारी खाद्य पदार्थ से अधिक पाया जाता है बाजार में स्पिरुलिना टेबलेट , कैप्सूल और पाउडर फॉर्म आती हैं सबसे बेहतर स्पिरुलिना Sunova Spirulina  बनाते हैं आप इस पोस्ट को शेयर करें ताकि यह जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके
यह जानकारी 2 अगस्त 2917 को npr.org में प्रकाशित लेख पर आधारित है
Spirulina की अधिक जानकारी के लिए दिए गए लिंक पर जाएं
http://www.sanat.co.in/health-care-products/11/sunova-spirulina-life

Symptoms of Dengue: डेंगू के लक्षण


Symptoms of Dengue: डेंगू के लक्षण

High fever and any two of the following: तेज बुखार के साथ साथ नीचे लिखे लक्षणों में से कोई दो लक्षण हो सकते हैं

Muscle or Bone pain : नसों या हड्डीओं में दर्द

Severe Eye Pain (behind eyes) : आँखों में दर्द

Severe Headache : सरदर्द
Joint Pain : जोड़ों में दर्द
Rashes : चकत्ते पड़ना
Mild bleeding (e.g., nose or gum bleed) : नाक में या मसूड़ों में खून आना
Go Immediately to Hospital if any of the following signs appear: यदि नीचे लिखा कोई भी लक्षण दिखाई दे तुंरत डॉक्टरः या नजदीकी अस्पताल से सम्पर्क करें
Drowsiness : चककर आना
Bleeding from Nose or Gums : नाक या मसूड़ों से खून का बहना
Red spots/ Patches on Skin : शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना
Difficulty in Breathing : साँस लेने में दिक़्क़त
Severe Abdominal pain : पेट में तेज दर्द
Vomiting
Vomiting blood : खुनी उल्टी
#Platelet Count Starts Falling
A PLATELET count Below 100000/1 Lac is DANGEROUS.
To know about How to Increase Platelet Count
डेंगू के कारण खून में प्लेटलेट्स की संख्या एकदम से कम होने लगती हैं जिससे कई बार मरीज की मृत्यु भी हो सकती हैं एक लाख से कम प्लेटलेट्स की संख्या घातक है
To avoid emergencies, you should start using it already, this medicine has no side effects .आपात स्थिति से बचने के लिए आप डेंगू के लक्षण दीखते ही UPLAT का इस्तेमाल शुरू कर दें ,ये रक्त में प्लेटलेट की संख्या बढ़ाता है/ इस दवाई का कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है
https://www.sanat.co.in/health-care-products/4/uplat

स्पिरुलिना के फायदे Spirulina Benefits in Hindi


स्पिरुलिना का उपयोग त्वचा की देखभाल के लिए -
स्पिरुलिना में विटामिन ए, विटामिन बी -12, विटामिन ई, कैल्शियम, लोहा और फास्फोरस की उच्च सामग्री है, जो सभी आपकी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। मुक्त कण आपकी त्वचा को थका हुआ बनाते हैं। नियमित रूप से स्पिरुलिना की खुराक लेना आपकी त्वचा के लिए अद्धभुत काम करता है जिससे त्वचा टोन, युवा और महत्वपूर्ण दिखती है। यह शरीर के चयापचय अपशिष्ट उत्पादों को नष्ट करने और पूरे शरीर को मजबूत करने के द्वारा फलब्बी स्किन का भी इलाज करता है। स्पिरुलीना, डार्क सर्कल्स और ड्राई आईज के लक्षणों के इलाज में प्रभावी है। 


 स्पिरुलिना के गुण कैंसर की रोकथाम के लिए -

स्पिरुलिना कई स्वस्थ पोषक तत्वों से भरी हुई है जो कि कैंसर के प्रति रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट एजेंट के रूप में कार्य करता है जिससे शरीर से हानिकारक मुक्त कणों को नष्ट कर दिया जाता है जो कैंसर का कारण बनते हैं। इसके अलावा इसमें फीनॉलिक यौगिक मौजूद होते हैं जो कार्सिनोजेनेसिस पर निरोधक कार्रवाई करते हैं। (और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

स्पिरुलिना के फायदे रखें लिवर को स्वस्थ -
इसमें मौजूद कई पोषक तत्वों की उपस्थिति और साथ ही उच्च मात्रा में फाइबर और प्रोटीन आपके लिवर को स्वस्थ रखने के लिए एक भोजन स्रोत है। लिवर के सामान्य कामकाज को बढ़ाने के अलावा, यह लिवर को पुराने हेपेटाइटिस के रोगियों में क्षति और सिरोसिस से बचाता है।


प्रोटीन का अच्छा स्रोत है स्पिरुलिना -
प्रोटीन (अमीनो एसिड का निर्माण लगभग 62%) और अन्य स्वस्थ पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत होने के नाते, यह निस्संदेह स्वाभाविक रूप से उपलब्ध सर्वोत्तम पोषक तत्वों में से एक है। यह फिटनेस प्रशिक्षण, जिमिंग और उनकी मांसपेशियों के वजन में वृद्धि करने के लिए नियोजित लोगों के लिए स्वस्थ भोजन है।

स्पिरुलिना के लाभ एलर्जी रायनाइटिस के खिलाफ -

कई क्लीनिकल स्टडीज से यह साबित हुआ है कि स्पिरुलिना एलर्जी रायनाइटिस के खिलाफ सुरक्षात्मक कार्य करता है जो इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों के कारण होता है। यह नीला-हरा शैवाल हिस्टामाइन्स रिलीज़ को रोक कर एलर्जी के लक्षणों से बचने में मदद करता है, हिस्टामाइन्स एक पदार्थ है जो एलर्जी प्रतिक्रियाओं के लिए जिम्मेदार हैं।

इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देता है स्पिरुलिना -


अधिकांश लोग स्पिरुलिना की प्रतिरक्षा-शक्ति बढ़ाने वाली शक्तियों से अनजान हैं। कई अध्ययनों से पता चला है कि इस भोजन के सेवन से प्रतिरक्षा, कोशिकाओं के उत्पादन को बढ़ाती है जो संक्रमण के खिलाफ लड़ने में सहायता करती हैं। (और पढ़ें – प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थ)



स्पिरुलिना खाने के फायदे हैं वायरल संक्रमण में सहायक -

स्पिरुलिना शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट और सूजन को कम करने वाले गुणों के साथ परिपूर्ण होता है जो वायरल संक्रमण के उपचार में सहायक चिकित्सकीय दृष्टिकोण के रूप में कार्य करते हैं। यह ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने और शरीर से हानिकारक मुक्त कणों को नष्ट करने के दौरान वायरल हमले के दौरान होने वाली सूजन को कम करता है। 


हार्ट हेल्थ के लिए स्पिरुलिना है लाभकारी -


स्पिरुलिना का नियमित सेवन आपके रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। इसके अतिरिक्त रक्तचाप को नियंत्रित करने के साथ ही आपके दिल के स्वस्थ कार्यों में मदद करता है। इस भोजन में विभिन्न स्वस्थ पोषक तत्वों की उपस्थिति हृदय में रक्त प्रवाह को बढ़ाती है जिससे विभिन्न हृदय संबंधी जटिलताओं के जोखिम को कम किया जा सकता है। (और पढ़ें – कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए क्या खाएं)


स्पिरुलिना बेनिफिट्स फॉर डायबिटीज -

एक अध्ययन में यह पाया गया कि रक्त-वसा वाले स्तरों में महत्वपूर्ण कमी के कारण 12 सप्ताह के लिए आहार पूरक के रूप में स्पिरुलिना का सेवन लाभकारी होता है। यह विशेष रूप से मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है क्योंकि इससे सूजन घट जाती है और रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद मिलती है। 


वजन घटाने के लिए अच्छा है स्पिरुलिना - Spirulina Good for Weight Loss in Hindi


स्पिरुलिना बीटा कैरोटीन, क्लोरोफिल, फैटी एसिड और अन्य पोषक तत्वों में समृद्ध है जो अधिक वजन वाले लोगों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद होते हैं। उपवास के दौरान यह पूरक फायदेमंद होता है, क्योंकि यह आपकी भूख को रोकने के दौरान आपके सिस्टम को शुद्ध करने और ठीक रखने के लिए आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति करता है। (और पढ़ें - वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं)



स्पिरुलिना है मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए -

फोलेट और विटामिन बी -12 मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के स्वस्थ कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इन पोषक तत्वों में समृद्ध होने के कारण, स्पिरुलिना संज्ञानात्मक कार्य को बचाने में मदद करता है। इसका सप्लीमेंट मस्तिष्क के कार्यों को बनाए रखने में मदद करता है


स्पिरुलीना करे अवसाद में मदद - Spirulina Helps Depression in Hindi

स्पिरुलिना फोलिक एसिड का एक अच्छा स्रोत है जो मस्तिष्क के लिए पोषण प्रदान करती है और ऊर्जा और रक्त कोशिकाओं के उत्पादन का समर्थन करता है। यह अवसाद के उपचार में फायदेमंद होता है। 



स्पिरुलिना का उपयोग है आंखों के लिए फायदेमंद - Spirulina Benefits for Eyes in Hindi


रिसर्च ने दिखाया है कि स्पिरुलिना आंखों के लिए फायदेमंद होता है। आंखों के रोगो जैसे कि जेराट्रिक मोतियाबिंद, मधुमेह रेटिनल क्षति (रेटिनाइटिस), नेफ्रैटिक रेटिनल क्षति का उपचार करने में यह प्रभावी साबित हुआ है। (और पढ़ें - आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए क्या खाएं)  



अल्सर का उपचार करे स्पिरुलिना -

अमीनो एसिड, सिस्टीन और उच्च गुणवत्ता वाली प्रोटीन की उच्च सामग्री की उपस्थिति के कारण स्पिरुलिना गैस्ट्रिक और ड्यूइडनल (duodenal) अल्सर के अच्छे उपचार के रूप में कार्य करता है। क्लोरोफिल में परिपूर्ण होने के नाते, यह एक अच्छे पाचन को बनाए रखने और बहाल करने के लिए महान है। 


गर्भावस्था में करे स्पिरुलिना का सेवन -
स्पिरुलिना में लोहे की एक उच्च सामग्री होती है जो गर्भावस्था के दौरान आवश्यक होती है, खासकर एनीमिया के लिए। इसके अलावा यह कब्ज को रोकता है। (और पढ़ें - चूना का उपयोग बचाए एनीमिया से)  


स्पिरुलिना के नुकसान - Spirulina ke Nuksan in Hindi


फ़ेनिलकीटोनुरिया एक आनुवंशिक रूप से अधिग्रहित एक विकार है, जहां फिनोलेल्नाइन हाइड्रॉक्सीलेज (phenylalanine hydroxylase) नामक एंजाइम की कमी के कारण रोगी फिनोलेल्नाइन नामक एमिनो एसिड को चयापचय नहीं कर सकते हैं। यह एक ऑटोसॉमल अप्रभावी स्थिति है जिसके लिए माता और पिता से प्रत्येक में दोषपूर्ण जीन की आवश्यकता होती है। रोगी में विकास की कमी, सक्रियता और विश्लेषणात्मक विकलांगता जैसे इसके लक्षण पाए जाते हैं। प्रतिक्रियाशील गठिया, विटिलिगो, टाइप 2 मधुमेह, मल्टीपल स्केलेरोसिस, छालरोग और हानिकारक एनीमिया ऑटो-इम्यून रोगों के कुछ उदाहरण हैं। इनमें से किसी भी प्रकार के ऑटो-इम्यून रोग से पीड़ित व्यक्ति द्वारा स्पिरोलिना का सेवन एक अड़चन के रूप में काम करता है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली की गतिविधि को बढ़ाता है, जो रोग के लक्षणों को बढ़ाती है। स्पिरुलिना प्रतिरक्षा प्रणाली की गतिविधि के स्तर को बढ़ाती है। इससे दवाओं का पारस्परिक प्रभाव हो जाता है, खासकर प्रतिरक्षा-सुप्प्रेसेंट के साथ स्पिरुलिना और प्रतिरक्षा-प्रतिरोधी दवाएं एक कंट्राडिक्टरी तरीके से काम करती हैं। प्रतिरक्षा-सुप्प्रेसेंट दवा पर एक व्यक्ति को स्पिरुलिना का उपभोग नहीं करना चाहिए क्योंकि यह दवाओं के प्रभाव को कम करेगा जिससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं। अनियंत्रित सेटिंग के तहत उत्पादित किए जाने वाले विभिन्न प्रकार के स्पिरुलिना अक्सर भारी धातुओं जैसे कि पारा, कैडमियम, आर्सेनिक और सीसा के रूप में प्रभावित होते हैं। इस तरह के अपरिभाषित स्रोतों से आने वाली स्पिरुलिना के लंबे समय तक सेवन के कारण आंतों के अंगों, जैसे कि किडनी और लिवर को नुकसान पहुंचता है। जैसा कि पहले बताया गया है यह विटामिन, प्रोटीन और खनिजों से भरपूर होता है। एक गुर्दे के कार्यों से संबंधी लोग अपने रक्त प्रवाह से सभी अनावश्यक घटकों को निकालने में असमर्थ हैं। खून में अत्यधिक पोषक तत्वों के निर्माण के कारण यह अंगों को दबाने का कारण बनता है। यह सूजन को एडिमा कहा जाता है। स्पिरुलिना एक सुरक्षित जड़ी बूटी है। मगर बिना डॉक्टर या एक्सपर्ट की सलाह के बिना इसका सेवन नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था में इसके सेवन को लेकर अभी तक खोज की जा रही है। बच्चे और शिशु स्पिरुलिना में मौजूद दूषित पदार्थों के प्रति अत्यधिक संवेदनशील हैं, तो इस कारण गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। 






How to increase your running & workout stamina in gym or in A Field by Spirulina


Spirulina is a blue green-algae that can protect the brain, reduce liver fat and even help you exercise better. Though I will admit that my impression of the typical spirulina consumer is one of a granola-eatin’ tree-hugger who’d prefer walking barefoot in the woods munching on nuts and berries than lounging in a beach cabana being served caviar and sushi, the stuff has a lot to recommend it. In fact, this amazing superfood has something for everybody.

For those who would rather go to a strip club with a nun than eat spirulina, you may want to rethink your position. This blue-green algae has been consumed since ancient times—perhaps because other protein-containing foods were in short supply—and even the Chinese Olympic teams have been known to use it. It is roughly 60 percent protein and supposedly contains all the essential amino acids.

Recent work published in some rather obscure Indian journal found that supplementation with spirulina increased muscular strength and endurance. The subjects who got two grams of spirulina daily for eight weeks experienced an ergogenic effect.

Another study followed nine trained males who were given either six grams of spirulina or a placebo daily for four weeks.1 Each subject ran on a treadmill at 75 percent of his max for two hours and then at 95 percent of max to exhaustion. Time to fatigue after the two-hour run was significantly longer in the subjects who supplemented with spirulina; also, consuming spirulina significantly decreased the carbohydrate oxidation rate by 10.3 percent and increased the fat oxidation rate by 10.9 percent during the two-hour run. So this stuff apparently helps you burn fat.

Another cool effect is spirulina’s impact on the immune system. Scientists tested the effectiveness and tolerability of spirulina for treating patients with allergic rhinitis (you know, a runny nose)2. Spirulina consumption significantly improved the symptoms, including nasal discharge, sneezing, nasal congestion and itching, 


If you are exercising to tone, stay energetic and lose fat I have a few great suggestions for you. The best thing to take both before and after your workout is spirulina, which is an algae and you can buy it online in either in a tablet form (easy to carry around) or as a powder. In fact, for years, I heard so much about the benefits of spirulina that recently I started taking it before and after my own workouts to see if everything they say about it is true. It is! It’s amazing!

You will not fatigue or get hungry if you take spirulina before your workout. This is because it is 60% protein and is nitrogen-based (so it helps your body get more nitric oxide which allows more blood and oxygen to get to your cells). Sweet! And, as you have likely heard from trainers, the best thing to eat AFTER your workout is protein, which helps build muscle (instead of fat).

So, since spirulina has 12 x the amount of available protein as steak..I would also recommend you take spirulina after your workout (15 – 20 tabs). This will not only get protein immediately into your body, it will also cut your hunger (helpful for weight loss) and will also bring oxygen to your cells so that you won’t have muscle soreness (from excess lactic acid that may have been generated from your workout).

Almost as important as knowing what to eat after a workout is knowing what NOT to eat.  New research has shown that circuit training (short bursts of fast paced activities, followed by weight lifting repetitions, followed by breaks) is the best exercise for fat burning and for getting your body to release HGH (Human Growth Hormone) which is what keeps you energetic and youthful.

So, if you want to get the most fat burning benefits and HGH benefits from your workout, you should not eat anything with sugar (or HFCS) for the two hours after your workout. Why? Because research has shown that eating anything that contains fructose or sugar after a workout interferes with your body’s ability to burn fat or create HGH.

Translation...no fruit, no simple carbs, no chocolate, no candy, no juice or anything with sugar for 2 hours after your workout. Instead, eat protein. This means things like eggs, chicken, spirulina, chlorella, hemp or rice protein powder, seeds/nuts.

If you want, you can also eat salads (no salad dressing other than olive oil)  or other vegetables but if you want the best results, eat mostly protein. If you do this after your workouts, you will burn more fat after your work out, get toned faster and achieve or keep a slim, strong body! Thank you for asking a terrific question and I hope this helped!



Spirulina Available in India in Capsule and Tab form and best brand is Sunova Spirulina .  
You can see details ABOUT THIS Product : 

Tab : https://goo.gl/JP4GfJ
Capsule : https://goo.gl/xTSGiq






Improve Brain health & Boost your memory (Spirulina- Natural Memory Booster)





"Spirulina may safeguard against toxicity, stress, and degeneration in the brain."


SPIRULINA: A MULTIVITAMIN Organic Suppliment

Spirulina is a blue-green alga that thrives in both fresh and salt water. It is roughly 62 percent protein in dry weight. Besides containing a formidable amount of protein, Spirulina is also a complete protein containing essential amino acids.2

Along with protein, Spirulina is a storehouse of bioactive molecules, such as:

·         Polyunsaturated fatty acids, including omega-3 fats

·         Polysaccharides that stimulate the immune system

·         Minerals, including selenium, iron, calcium, and potassium

·         Vitamins that fight oxidative stress, like vitamins E and B12

With such a wide array of benefits, Spirulina fits the bill as a superfood. It could even be called Mother Nature’s multivitamin. Perhaps it comes as no surprise that children performed better on exams with the addition of Spirulina to their diet. In 2015, aid workers in the capital of the Central African Republic continued these relief efforts, providing sardines and Spirulina as a food supplement to impoverished children. “It’s the ideal food for malnourished children, along with sardines,” said Spirulina producer André Freddy Lemonier.3

SPIRULINA for BRAIN HEALTH: SHARPEN YOUR MIND

In animal studies, researchers have found that Spirulina may protect the brain from damage and degenerative diseases, like Parkinson’s disease and Alzheimer’s disease.4 University of Madrid researchers called Spirulina a “powerful antioxidant” that was capable of interfering with cell death caused by free radical damage. The researchers suggested that Spirulina extract could be useful in some treatments for neurodegenerative disorders — since Spirulina helped to increase levels of the body’s most important antioxidant, glutathione.

In other research, the antioxidant effect of Spirulina was more pronounced than other natural antioxidants, like blueberry or green tea.5 Spirulina is also an excellent source of omega-3 fats, which offer another way to protect against oxidative stress. Omega-3 fats boost cognitive performance too. In recent research out of the UK, children with low levels of omega-3 fatty acids were more likely to perform poorly in school and have behavioral problems.6

Researchers at the Defence Institute of Physiology and Allied Sciences in Delhi, India, found that Spirulina may safeguard against toxicity, stress, and degeneration in the brain.7 Other studies show that Spirulina has the ability to scavenge free radicals, restore levels of antioxidants, and chelate toxic heavy metals.8


SPIRULINA FOR MEMORY & BRAIN HEALTH


You may have heard of the “blood-brain barrier”, it is a separation of the brain and spinal cord from the other organs in the body. This natural mechanism is in place to keep infections from reaching your most vulnerable tissues. Your brain contains microglia cells that are the immune system for your nervous system. It’s the job of these microglia cells to constantly scavenge your central nervous system for plaque, damaged neurons, and harmful agents. When harmful agents do manage to cross the blood-brain barrier, microglial cells spring into action for defense. However, activated microglia produce redness and in the brain, which is thought to be a major component in the development of degenerative brain diseases. Spirulina may be beneficial and provide resistance to the oxidative aspect of microglial cell activation. [7] Research by the Department of Otolaryngology at Buddhist Dalin Tzu-Chi General Hospital in Taiwan found similar oxidation-reduction properties in Spirulina and even stated that these properties may fight against memory loss. [8]


Spirulina prevents memory dysfunction, reduces oxidative stress damage and augments antioxidant activity in senescence-accelerated mice.


Read full study: https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/21697639



Interested to Get Spirulina Get Now  : https://goo.gl/biHfWt
  

Enlarged Prostate Causes, Symptoms & Treatment






The prostate is a gland that produces the fluid that carries sperm during ejaculation. The prostate gland surrounds the urethra, the tube through which urine passes out of the body.

An enlarged prostate means the gland has grown bigger. Prostate enlargement happens to almost all men as they get older. As the gland grows, it can press on the urethra and cause urination and bladder problems.
An enlarged prostate is often called benign prostatic hyperplasia (BPH). It is not cancer, and it does not raise your risk for prostate cancer.

Symptoms
Less than half of all men with BPH have symptoms of the disease. Symptoms may include:

1: Dribbling at the end of urinating
2: Inability to urinate (urinary retention)
3: Incomplete emptying of your bladder
Incontinence
4: Needing to urinate two or more times per night
5: Pain with urination or bloody urine (these may indicate infection)
6:Slowed or delayed start of the urinary stream
7: Straining to urinate
8: Strong and sudden urge to urinate
9: Weak urine stream

Treatment
PROSTONIL 


Prostonil contains saw palmetto extract that has been widely used as a therapeutic remedy for urinary dysfunction due to benign prostatic hyperplasia (BPH) or prostate enlargement. Benign prostatic hyperplasia is the enlargement of the prostate gland that can make urination difficult .

Know more and get this treatment







हृदय की बीमारी का आयुर्वेदिक इलाज / ayurvedic treatment of hart dises



            

                                              हृदय की बीमारी :: आयुर्वेदिक इलाज

हमारे देश भारत मे 3000 साल एक बहुत बड़े ऋषि हुये थे उनका नाम था महाऋषि वागवट जी l
 उन्होने एक पुस्तक लिखी थी जिसका नाम है ' अष्टांग हृदयम (Astang hrudayam) '
और इस पुस्तक मे उन्होने ने बीमारियो को ठीक करने के लिए 7000 सूत्र लिखे थे ! ये उनमे से ही एक सूत्र है !!
वागवट जी लिखते है कि कभी भी हृदय को घात हो रहा है !
मतलब दिल की नलियों मे blockage होना शुरू हो रहा है !
 तो इसका मतलब है कि रकत (blood) मे acidity(अम्लता ) बढ़ी हुई है ! अम्लता आप समझते है ! जिसको अँग्रेजी मे कहते है acidity !!
अम्लता दो तरह की होती है !
 एक होती है पेट कि अम्लता !
और एक होती है रक्त (blood) की अम्लता !!
आपके पेट मे अम्लता जब बढ़ती है ! तो आप कहेंगे पेट मे जलन सी हो रही है !! खट्टी खट्टी डकार आ रही है ! मुंह से पानी निकाल रहा है ! और अगर ये अम्लता (acidity)और बढ़ जाये ! तो hyperacidity होगी !

और यही पेट की अम्लता बढ़ते-बढ़ते जब रक्त मे आती है तो रक्त अम्लता(blood acidity) होती !!
और जब blood मे acidity बढ़ती है तो ये अम्लीय रकत (blood) दिल की नलियो मे से निकल नहीं पाता ! और नलियो मे blockage कर देता है ! तभी heart attack होता है !! इसके बिना heart attack नहीं होता !!

और ये आयुर्वेद का सबसे बढ़ा सच है जिसको कोई डाक्टर आपको बताता नहीं ! क्योंकि इसका इलाज सबसे सरल है !!

इलाज क्या है ??
वागबट जी लिखते है कि जब रक्त (blood) मे अम्लता (acidity) बढ़ गई है ! तो आप ऐसी चीजों का उपयोग करो जो क्षारीय है !
आप जानते है दो तरह की चीजे होती है !
अम्लीय और क्षारीय !! (acid and alkaline ) अब अम्ल और क्षार को मिला दो तो क्या होता है ! ????? ((acid and alkaline को मिला दो तो क्या होता है )????? neutral होता है सब जानते है !!

तो वागबट जी लिखते है ! कि रक्त की अम्लता बढ़ी हुई है तो क्षारीय(alkaline) चीजे खाओ !
तो रकत की अम्लता (acidity) neutral हो जाएगी !!!
और रक्त मे अम्लता neutral हो गई ! तो heart attack की जिंदगी मे कभी संभावना ही नहीं !! ये है सारी कहानी !!

 अब आप पूछोगे जी ऐसे कौन सी चीजे है जो क्षारीय है और हम खाये ????? आपके रसोई घर मे सुबह से शाम तक ऐसी बहुत सी चीजे है जो क्षारीय है ! जिनहे आप खाये तो कभी heart attack न आए ! और अगर आ गया है ! तो दुबारा न आए !!

सबसे ज्यादा आपके घर मे क्षारीय चीज है वह है लौकी !! जिसे दुदी भी कहते है !! english मे इसे कहते है bottle gourd !!! जिसे आप सब्जी के रूप मे खाते है ! इससे ज्यादा कोई क्षारीय चीज ही नहीं है !
तो आप रोज लौकी का रस निकाल-निकाल कर पियो !! या कच्ची लौकी खायो !!

कितना करे ?????????
रोज 200 से 300 मिलीग्राम पियो !!
कब पिये ??
सुबह खाली पेट (toilet जाने के बाद ) पी सकते है !!
 या नाश्ते के आधे घंटे के बाद पी सकते है !!

इस लौकी के रस को आप और ज्यादा क्षारीय बना सकते है !
इसमे 7 से 10 पत्ते के तुलसी के डाल लो  , तुलसी बहुत क्षारीय है !!
 इसके साथ आप पुदीने से 7 से 10 पत्ते मिला सकते है ! पुदीना बहुत क्षारीय है !
इसके साथ आप काला नमक या सेंधा नमक जरूर डाले ! ये भी बहुत क्षारीय है !! लेकिन याद रखे नमक काला या सेंधा ही डाले !
वो दूसरा आयोडीन युक्त नमक कभी न डाले !! ये आयोडीन युक्त नमक अम्लीय है !!!!

तो मित्रों आप इस लौकी के जूस का सेवन जरूर करे !!
2 से 3 महीने आपकी सारी heart की blockage ठीक कर देगा !!