Carbon Dioxide affect Crops Nutritional value, Millions of Life At Risk/ कार्बनडाई ऑक्साइड से अनाजों की घटती पोष्टिकता


क्या आप जानते कि आपके द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले अनाजों की पोष्टिकता खतरनाक स्तर पर कम हो रही है

कार्बन डाइऑक्साइड का  बढ़ता  स्तर खाद्य फसलों पर अप्रत्याशित दुष्प्रभाव डाल रहा है ऐसा देखा गया की इससे अनाजों में मुख्य पोषक तत्वों की कमी हो रही हैं  और यह लोगों को कुपोषण के खतरे में डाल रहे हैं
2014 के एक अध्ययन से पता चला है कि वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड के बढ़ते हुए स्तर  से चावल, गेहूं, मटर और अन्य खाद्य फसलों के प्रोटीन, लोहा और जस्ता जैसे तत्वों में कमी हो रही है  हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में पर्यावरण स्वास्थ्य शोधकर्ता शमूएल मायर्स ने एक अध्यन में यह सावित किया है
वातावरण में बढ़ता प्रदूषण चिंताजनक हैं फसलों में मुख्य पोषक तत्वों की कमी के होने कुछ अलग कारण भी है
१: वातावरण में बढ़ता प्रदूषण
२: फसलों के अधिक उत्पादन हेतु बेतहाशा केमिकल और पेस्टिसाइड्स का इस्तेमाल का होना
एक नागरिक के तौर पर हमें कोशिश करनी होगी कि वातावरण में प्रदूषण कम हो एवं देश के फसल उत्पादक जहरीले उर्वरको का इस्तेमाल बंद करें केवल देशी खादों का इस्तेमाल करें
लेकिन यह एक लम्बा और अनिश्चितकालीन प्रोसेस हैं हमें अपनी सेहत की देखभाल के लिए कुछ प्रभावी कदम उठाने होंगे , जिससे हमें और हमारे बच्चो को उचित मात्रा में पोषक तत्व मिल सकें , प्राकृतिक रूप से कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जो अनाजों , फलों से अधिक मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करते हैं हम सलाह देतें की आप नीचे दिए प्रोडक्ट का इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं 
स्पिरुलिना Spirulina 
यह एक जलीय वनस्पति है जो समुद्र के अंदर पायी जाती है नासा के द्वारा इसे सुपर फ़ूड के रूप में प्रमाणित किया गया हैं इसका मलतब यह सुरक्षित और सेहत मंद हैं स्पिरुलिना की सबसे बड़ी खासियत ये है की इसमें 60%  प्रतिशत प्रोटीन तथा उसके 18  एमिनो एसिड्स होते हैं लगभग सभी विटामिन और खनिज होते हैं शरीर को स्वस्थ रखने के लिए सबसे जरुरी है प्रोटीन , विटामिन एवं जरूरी खनिज, जोकि स्पिरुलिना में किसी भी शाकाहारी और मांसाहारी खाद्य पदार्थ से अधिक पाया जाता है बाजार में स्पिरुलिना टेबलेट , कैप्सूल और पाउडर फॉर्म आती हैं सबसे बेहतर स्पिरुलिना Sunova Spirulina  बनाते हैं आप इस पोस्ट को शेयर करें ताकि यह जानकारी अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके
यह जानकारी 2 अगस्त 2917 को npr.org में प्रकाशित लेख पर आधारित है
Spirulina की अधिक जानकारी के लिए दिए गए लिंक पर जाएं
http://www.sanat.co.in/health-care-products/11/sunova-spirulina-life

Symptoms of Dengue: डेंगू के लक्षण


Symptoms of Dengue: डेंगू के लक्षण

High fever and any two of the following: तेज बुखार के साथ साथ नीचे लिखे लक्षणों में से कोई दो लक्षण हो सकते हैं

Muscle or Bone pain : नसों या हड्डीओं में दर्द

Severe Eye Pain (behind eyes) : आँखों में दर्द

Severe Headache : सरदर्द
Joint Pain : जोड़ों में दर्द
Rashes : चकत्ते पड़ना
Mild bleeding (e.g., nose or gum bleed) : नाक में या मसूड़ों में खून आना
Go Immediately to Hospital if any of the following signs appear: यदि नीचे लिखा कोई भी लक्षण दिखाई दे तुंरत डॉक्टरः या नजदीकी अस्पताल से सम्पर्क करें
Drowsiness : चककर आना
Bleeding from Nose or Gums : नाक या मसूड़ों से खून का बहना
Red spots/ Patches on Skin : शरीर पर लाल चकत्ते पड़ना
Difficulty in Breathing : साँस लेने में दिक़्क़त
Severe Abdominal pain : पेट में तेज दर्द
Vomiting
Vomiting blood : खुनी उल्टी
#Platelet Count Starts Falling
A PLATELET count Below 100000/1 Lac is DANGEROUS.
To know about How to Increase Platelet Count
डेंगू के कारण खून में प्लेटलेट्स की संख्या एकदम से कम होने लगती हैं जिससे कई बार मरीज की मृत्यु भी हो सकती हैं एक लाख से कम प्लेटलेट्स की संख्या घातक है
To avoid emergencies, you should start using it already, this medicine has no side effects .आपात स्थिति से बचने के लिए आप डेंगू के लक्षण दीखते ही UPLAT का इस्तेमाल शुरू कर दें ,ये रक्त में प्लेटलेट की संख्या बढ़ाता है/ इस दवाई का कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है
https://www.sanat.co.in/health-care-products/4/uplat